Gold Lone : RBI ने गोल्ड लोन देने वाली कंपनियों पर कसा सिकंजा नहीं मिलेगा अधिक कैश

Gold Lone | बीते कुछ दिनों से RBI ने सरकारी , गैर सरकारी बैंकों और एनबीएफसी कंपनियों पर सख्त रुख अपना लिया है । आरबीआई का कहना है की कोई भी वित्तीय कपनी या फिर बैंक को नियमों के अधीन रह कर ही काम काज करना होगा । अभी हाल ही में RBI ने Gold lone देने वाली कंपनियों के लिय कडा नियम बना दिया है जिसमें अगर कोई व्यक्ति बैंक से gold Lone लेता है तो उस को सिर्फ 20000 रु का ही कैश भुगतान किया जाएगा । यह नियम इनकम टैक्स की धारा 269SS का अधीन पालन करने का निर्देश दिया है ।

RBI ने Gold Lone देने वाली कंपनियों से क्या कहा

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI ) ने गोल्ड लोन देने वाली गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (एनबीएफसी) से कहा है कि इनकम टैक्स कानून के अंतर्गत गोल्ड लोन पर 20,000 रुपये से अधिक नगद राशि का भुगतान न करें। बता दे की RBI ने इस सप्ताह की शुरुआत में Gold lone देने वाले फाइनेंसरों और माइक्रो फाइनांस को आगाह किया गया है की Income Tax कानून की धारा 269SS का अनुपालन करने का आदेश दिया है। इसके अनुसार, इनकम टैक्स एक्ट की धारा 269एसएस के तहत कोई व्यक्ति पेमेंट के लिए बताए गए तरीकों के अलावा किसी दूसरे व्यक्ति की ओर से की गई डिपॉजिट या लोन स्वीकार नहीं कर सकता है। इस धारा में कैश की मंजूर की गई लिमिट 20,000 रुपये है।

RBI ने Gold lone देने वाले रोका

RBI की ओर से दी गई सलाह से कुछ सप्ताह पहले केंद्रीय बैंक ने IIFL फाइनेंस के ऑडिट के समय पाई गई कुछ गलतियों नजर आने के तुरंत बाद उसे Gold lone मंजूर करने या देने से रोक दिया था। RBI की इस सलाह पर टिप्पणी करते हुए मणप्पुरम फाइनेंस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि इसमें कैश लोन देने के लिए 20,000 रुपये की लिमिट दोहराई गई है।

Leave a comment