साथ ही बता दें कि ओमन चांडी की तबीयत साल 2019 से ठीक नहीं चल रही थी। चांडी को गले से संबंधित बीमारी बढ़ने के बाद जर्मनी ले जाया गया था। बताते चलें कि वह केरल के दो बार मुख्यमंत्री भी रहे हैं। साल 1970 से राज्य विधानसभा में पुथुपल्ली निर्वाचन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व किया है। बताते चलें कि कांग्रेस के दिग्गज नेता का बेंगलुरु में कैंसर का इलाज चल रहा था |