Raksha Bandhan 2023 :- साल 2023 में 2 दिन मनाई जाएगी राखी-: ज्योतिषाचार्य 

Raksha Bandhan 2023  रक्षा बंधन 2023: शुभ समय और महत्व

हिंदू संस्कृति में बहुत महत्व रखने वाला त्योहार रक्षा बंधन, भाई-बहनों के बीच विशेष बंधन का जश्न मनाने के लिए बेसब्री से इंतजार किया जाता है। इस साल रक्षाबंधन 30 और 31 अगस्त 2023 को मनाया जाएगा। ज्योतिषियों के अनुसार, यह त्योहार भद्रा के शुभ अवसर पर आता है और राखी बांधने का शुभ समय जानना जरूरी है।

भाई-बहन के प्यार का प्रतीक त्योहार रक्षाबंधन उत्साह और उमंग के साथ मनाया जाता है। इस दिन, बहनें अपने भाइयों की कलाई पर रक्षा सूत्र राखी बांधती हैं और उनके लंबे और समृद्ध जीवन की कामना करती हैं। बदले में, भाई अपने प्यार के प्रतीक के रूप में उपहार देते हैं और अपनी बहनों की रक्षा करने का वचन लेते हैं। परंपरागत रूप से, रक्षा बंधन हिंदू चंद्र कैलेंडर के अनुसार श्रावण माह की पूर्णिमा के दिन मनाया जाता है। हालाँकि, 2023 में, रक्षा बंधन दो दिन, 30 और 31 अगस्त को मनाया जाएगा।

सावन पूर्णिमा तिथि और रक्षाबंधन 2023 शुभ मुहूर्त (Raksha Bandhan date)

हिंदू पंचांग के अनुसार भाई-बहन के प्रेम का प्रतीक रक्षाबंधन का त्योहार प्रत्येक वर्ष श्रावण शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि को मनाया जाता है ,लेकिन 2023 में रक्षाबंधन का त्योहार 30 एवं 31 अगस्त 2 दिन मनाया जाएगा.. वैदिक ज्योतिष शास्त्र के अनुसार राखी का पर्व भद्रा रहित समय में ही मनाना शुभ रहता है अतः 31 अगस्त 2023 के दिन सुबह 7:05 से पहले राखी बांधना श्रेष्ठ रहेगा

Read Also This :- RAJASTHAN ELECTION 2023 :- राजस्थान में विधानसभा चुनाव का कार्यक्रम 4 अक्टूबर के बाद घोसित होने की संभावना।

भद्रा काल शुरू कब शुरू होगा 

हिंदू पंचांग की गणना के अनुसार इस साल 30 अगस्त को श्रावण पूर्णिमा तिथि के साथ भद्रा काल शुरू हो जाएगा
प्रातः काल 11:00 बजे से प्रारंभ होकर के यह रात्रि 9:02 तक रहेगा .. शास्त्रों के अनुसार भद्रा काल में रक्षाबंधन का त्यौहार नहीं मनाया जा सकता है अतः रात्रि 9:02 के बाद ही तथा अगले दिन सुबह 7:05 तक आप रक्षाबंधन का त्यौहार मना सकते हैं ऐसी मान्यता है कि रावण की बहन शूर्पणखा ने रावण को भद्रा काल में ही राखी बांधी थी

राखी बांधना शुभ समय कब नहीं है 

कुछ पंडितों का यह मानना होता है की रात्रि के समय राखी बांधना शुभ नहीं होता है .. ..

रक्षाबंधन भद्रा पूछ -:30 अगस्त 2023 शाम 5:30 से शाम 6:31 तक

रक्षाबंधन माहूर्त सावन पूर्णिमा तिथि 2023

हिंदू पंचांग के अनुसार, इस वर्ष श्रावण मास के शुक्ल पक्ष की शुभ पूर्णिमा 30 अगस्त 2023 को सुबह 10:58 बजे शुरू होगी और पूर्णिमा तिथि का समापन अगले दिन होगा। यानी, 31 अगस्त 2023, सुबह 7:07 बजे

रक्षाबंधन भद्रा मुख-:

  • 30 अगस्त 2023 को शाम 6:31 से रात 8:11 तक…
  • राखी बांधने का समय -:30 अगस्त 2023 को रात्रि 9:03 से 31 अगस्त 2023 को 7:05 सुबह तक…
  • रक्षाबंधन का त्योहार हमेशा भद्रा रहित समय में ही मनाया जाना श्रेष्ठ रहता है…
भद्रा को तीन तरह से माना जाता है
  • (1) कल्याणकारी भद्रा
  • (2) धन लाभकारी भद्रा
  • (3) विनाशकारी भद्रा कल्याणकारी भद्रा का निवास स्वर्ग लोक में माना जाता है …

धन लाभकारी भद्रा का निवास पाताल लोक पर माना जाता है…. विनाशकारी भद्रा का निवास मृत्यु लोक में माना जाता है… मृत्यु लोक की भद्रा में सभी मांगलिक कार्य निषेध माने जाते हैं ..
रक्षाबंधन पर कुछ ध्यान देने योग्य बातें-: राखी बांधते समय भाई का मुख हमेशा पूर्व दिशा में ही होना चाहिए तथा भाई के दाहिने हाथ में ही राखी बांधनी चाहिए… श्रवण पूजन का समय-: 31 अगस्त 2023 गुरुवार को प्रातः 6:00 बजे से लेकर के 7:30 तक शुभ चौघड़िया में तथा फिर उसके बाद दूसरा मुहूर्त 11:30 सुबह से 1 मिनट तक अभिजीत बेला में श्रेष्ठ रहेगा…
हालांकि कुछ विद्वान गण 31 तारीख को दिन में भी रक्षाबंधन पर्व मनाने का सुझाव दे रहे हैं

Vivo V29e  Launch in India आने वाला है , 50MP सेल्फी कैमरा! 28 अगस्त को लॉन्च

Leave a comment